Independence Day Essay In Hindi 2021 (In Simple Language)

आज़ादी सबसे खूबसूरत अहसास है खुलकर जीने का. हमें आज़ादी मुफ्त में नहीं मिल गई इसके लिए बहुत से शूरवीर शहीद हुए संघर्ष किये गए तब जाकर हमारा हिंदुस्तान आज़ाद हुआ. आज़ादी का जश्न मनाने और और दोस्तों को बधाई देने के लिए अगर आप गूगल पर Independence Day Essay In Hindi ढूंढ रहे हैं तो आप सही वेबसाइट पर आये हैं.

इस वेबसाइट पर आपको 15 August की बधाइयाँ शेयर करने के लिए 15 अगस्त पर निबंध हिंदी में, Independence Day Essay in Hindi 10 Lines, Essay on Independence Day in Hindi Language, Independence Day Essay in Hindi 150 Words, स्वतंत्रता दिवस निबंध हिंदी, Short Essay on Independence Day in Hindi, Essay on Independence Day in Hindi 200 Words मिलेंगी जिन्हें आप Whatsapp, फेसबुक आदि सोशल मीडिया साइट्स पर शेयर कर सकते हैं.

Independence Day Essay in Hindi 10 Lines

  1. भारतवर्ष में प्रत्येक वर्ष 15 अगस्त के दिन को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाता है
  2. भारत ने 15 अगस्त 1947 को अंग्रेजों की दासता से मुकित मिली थी
  3. स्वतंत्र होने के पश्चात देश के प्रथम प्रधानमंत्री के रूप में पंडित जवाहरलाल नेहरू और प्रथम राष्टपति के रूप में डा0 राजेन्द्र प्रसाद जी का चयन किया गया था।
  4. इस दिन सभी शिक्षण संस्थानों और कार्यालयों में अवकाश का दिन होता है
  5. सभी धर्मों के लोग बिना किसी भेद-भाव के साथ-साथ इस कार्यक्रम में शामिल होते हैं।
  6. इस दिन हम उन लाखों स्वतंत्रता सेनानियों को याद करते हैं जिन्होंने किसी न किसी रूप में भारतवर्ष से अंगे्रजों को भगाने में अपना योगदान दिया।
  7. हम उनका कर्ज कभी नहीं चुका सकते,अत: हम उन्हें याद करके अपना कर्तव्य याद करने का प्रयास करते हैं।
  8. आज भारतवर्ष भ्रष्टाचार, जमाखोरी, अपहरण, फिरौती, हत्या, बलात्कार आदि जैसे भयानक रोगों के चंगुल में बुरी तरह से जकड़ता जा रहा है।
  9. यह दिन पूरे देश में हर पर्व से बढ़कर मनाया गया था
  10. यह मुकित उसे 190 वर्षों की गुलामी के बाद मिली थी

Independence Day Essay in Hindi 150 Words

15 अगस्त 1947 का दिन हमारे देश भारत के लिए बहुत ही भाग्यशाली का दिन था। 15 अगस्त हर भारतीय के लिए सुनहरे अक्षरों में लिखा हुआ दिन है। हम सभी भारतीयों के लिए यह दिन विशेष महत्व रखता है। इस दिन 1947 को भारत ने ब्रिटिश राज्य से आजादी प्राप्त की थी। स्वतंत्रता संग्राम का नेतृत्व महात्मा गांधी और बहुत से महान नेताओं ने किया और भूत से आम लोगों ने भी इसमें भाग लिया था और बहुत से भारतीयों ने अपना जीवन भी बलिदान किया था। इसी दिन 45 करोड़ भारतीयों को विदेशी दासता से मुक्ति मिली थी। तब से प्रत्येक भारतीय स्वतंत्रता दिवस को राष्ट्रीय पर्व के रूप में मनाता आ रहा है।

Short Essay on Independence Day in Hindi

आजादी के इस पर्व को सभी भारतीय अपने-अपने तरीके से मनाते है, जैसे उत्सव की जगह को सजाना, फिल्में देखकर, अपने घरों पर राष्ट्रीय झंडे को लगा कर, राष्ट्रगान और देशभक्ति गीत गाकर, तथा कई सारे सामाजिक क्रियाकलापों में भाग लेकर। राष्ट्रीय गौरव के इस पर्व को भारत सरकार द्वारा बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री द्वारा दिल्ली के लाल किले पर झंडा फहराया जाता है और उसके बाद इस उत्सव को और खास बनाने के लिये भारतीय सेनाओं द्वारा परेड, विभिन्न राज्यों की झांकियों की प्रस्तुति, और राष्ट्रगान की धुन के साथ पूरा वातावरण देशभक्ति से सराबोर हो उठता है।

Essay on Independence Day in Hindi 200 Words

प्रतिवर्ष 15 अगस्त के दिन को भारतीय स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाते हैं। भारत को 15 अगस्त 1947 के दिन वह सुनहरी आजादी प्राप्त हुई थी जिसका लोगों को वर्षों से इंतजार था। इस दिन भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने लाल किले पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया था। लोग गुलामी की जंजीरे तोड़कर बहुत प्रसन्न हुए थे। तब से भारत बहुत उन्नति कर चुका है। भारत के लोग आज भी अपना स्वतंत्रता दिवस बहुत उत्साह से मनाते हैं। प्रधानमंत्री लाल किले पर झंडा फहरा कर राष्ट्र को संबोधित करते हैं।


वे राष्ट्र को एकजुट रहने तथा अपनी स्वतंत्रता को बरकरार रखने की प्रेरणा देते हैं। देश के विभिन्न भागों में इस दिन चहल-पहल होती है। लोग तिरंगा झंडा फहराकर एक-दूसरे को स्वतंत्रता दिवस की बधाई देते हैं। यह दिवस हमें अपने महान स्वतंत्रता सेनानियों तथा शहीदों का स्मरण करा जाता है। भारतवासी उनके बताए मार्ग पर चलने का संकल्प प्रकट करते हैं। स्वतंत्रता दिवस भारत के लोगों को आपसी मतभेद भुलाकर देश के नवनिर्माण की प्रेरणा देता है।

Related Post:

15 अगस्त पर निबंध हिंदी में

राज्यों में भी स्वतंत्रता दिवस को इसी उत्साह के साथ मनाया जाता है जिसमें राज्यों के राज्यपाल और मुख्यमंत्री मुख्य अतिथी के तौर पर होते है। कुछ लोग सुबह जल्दी ही तैयार होकर प्रधानमंत्री के भाषण का इंतजार करते है। भारतीय स्वतंत्रता इतिहास से प्रभावित होकर कुछ लोग 15 अगस्त के दिन देशभक्ति से ओतप्रोत फिल्में देखते है साथ ही सामाजिक कार्यक्रमों में भाग लेते हैं।

महात्मा गांधी के अहिंसा आंदोलन की वजह से हमारे स्वतंत्रता सेनानियों को खूब मदद मिली और 200 साल के लंबे संघर्ष के बाद ब्रिटिश शासन से आजादी मिली। स्वतंत्रता के लिये किये गये कड़े संघर्ष ने उत्प्रेरक का काम किया जिसने ब्रिटिश शासन के खिलाफ अपने अधिकारों के लिये हर भारतीय को एक साथ किया, चाहे वो किसी भी धर्म, वर्ग, जाति, संस्कृति या परंपरा को मानने वाले हो। यहां तक कि अरुणा आसिफ अली, एनी बेसेंट, कमला नेहरु, सरोजिनी नायडु और विजय लक्ष्मी पंडित जैसी महिलाओं ने भी आजादी की लड़ाई में अपनी महत्वपूर्णं भूमिका अदा की।

अंतिम शब्द

दोस्तों मैं उम्मीद करता हूँ इस वेबसाइट में शेयर किये गए Independence Day Essay In Hindi आपको पसंद आये होंगे। कमेंट करके अपने विचार हमारे साथ ज़रूर शेयर करें और फेसबुक, व्हाट्सप्प, इंस्टाग्राम आदि सोशल मीडिया साइट्स पर इस पोस्ट को शेयर करना ना भूलें धन्यवाद और जय हिन्द।

Leave a Comment